Wednesday, March 12, 2014

ALONE WEAKER, TOGETHER STRONGER ....

मुस्लिम भाइयों से तहे-दिल से मेरी गुजारिश!!


देश प्रेम का एक ही रंग हो, जिससे हो सबकी पहचान
भाषा जाति धर्म से उठकर, नव भारत का हो निर्माण

हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई, मिल कर रहेंगे भाई भाई
आज़ादी की जंग में सबने, मुल्क की खातिर जान लुटाई
कोई बड़ा ना कोई छोटा, देश में हों सब एक समान
देश प्रेम का .......

द्वेष भाव को भूलके सारे, त्याग के मन की छाँव धूप
आओ सबको गले लगाएं, ईश्वर अल्लाह एक ही रूप
हम सबकी हो एक ही इच्छा, हम कहलायें बस इंसान
देश प्रेम का .......
                                                                                                                            अशोक शीतल

आप सब मुस्लिम भाइयों और बहनों से मेरी तहे-दिल से गुजारिश है कि इस बार आप कांग्रेस के किसी भी झांसें में ना आयें क्योंकि यह देश पिछले साठ सालों से जिस बदहाली, बद अमली और महंगाई का शिकार बना हुआ है उसकी कोई और राजनितिक पार्टी नहीं सिर्फ कांग्रेस जिम्मेदार है। कांग्रेस ने विभाजन की राजनीति को अपनाकर हमेशा से ही आप लोगों को हिन्दू भाइयों से तोड़कर आपको और आपकी कौम धोका दिया है। साथ उसका दो जो आपके और आपकी कौम के काम आयें। हिन्दू या मुसलमान, एक आम समझदार इंसान इस देश में कभी आपसी बैर और दंगे नहीं चाहेगा क्योंकि वो जानता है की खून खराबे से आज तक किसी का भला नहीं हुआ। इस से भला हुआ है तो सिर्फ उन भ्रष्ट नेताओं का जो दंगे भड़काकर उसकी आग में अपनी रोटियाँ सेंकतें हैं। 


मुझे उम्मीद है आपने भी अब तक ये महसूस कर लिया होगा की 2014 का चुनाव इस देश की सियासत में नया बदलाव चाहता है. जिसमें आप सब का शरीक होना भी उतना ही बेहद ज़रूरी है जितना दूसरों का। ये नया बदलाव तभी मुमकिन होगा दोस्तों जब हम सब मिलकर नए और ईमानदार नेताओं को चुनाव में जीता कर सामने लायेंगे। अगर इस बार आपने इस बदलाव की इस मुहीम में देशवासियों का साथ नहीं दिया तो यह परिवर्तन कभी मुमकिन नहीं होगा मेरे दोस्तों। मेरा सोचना है कि इस बार जो हिन्दुस्तान की जनता ने तय किया है वो आप भी चाहतें होँगे। 

दिखा दो इस देश को, बता दो इन भ्रष्ट सियासत दानो को कि आप लोगों को अब कोई बेवकूफ नहीं बना सकता। हमें इस बार इस क्रांति के दौर में एकता और अमन की एक ऐसी मिसाल देनी होगी जो आज तक हम चुनाव के वक़्त कभी दे नहीं पाये। 

एक और गुज़ारिश करना चाहूँगा मैं यहाँ, अगर आप मुझसे, मेरी सोच और मेरे ख्यालों से तवक्को रखतें हैं तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों रिश्तेदारों से ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि आने वाला चुनाव एक क्रांतिकारी चुनाव बने। एक ऐसा चुनाव जो नेताओं का नहीं, हिन्दुस्तान का भला करे. 

हिन्दू-मुस्लिम सिख इसाई सब हैं यहाँ भाई भाई! 

जय हिन्द ! जय भारत !
Post a Comment