Saturday, March 1, 2014

ENDANGERED FREEDOM ...

खतरे मेँ है आज़ादी

सिर्फ बयानोँ की यहां होड़ लगी है यार ,
केवल बातोँ से कहीँ बेड़ा होगा पार ?

होगा बेड़ा पार काम अच्छे करने से ,
नहीँ बनेगी बात बेवजह ही डरने से ।

जब तक सुधर नहीँ जाती खाकी और खादी ,
रहेगी खतरे मेँ अपनी प्यारी आज़ादी ।

- कृष्ण गोपाल विद्यार्थी



Post a Comment